डलंग ने नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी ऑफ नाइजीरिया (एनओयूएन) के द्वारा नेशनल इंम्प्लॉबिलिटी स्किल डेवलपमेंट और इंटर्नशिप कार्यक्रम (एनईएसडीआईपी) के लॉन्च की सराहना की
Jul 13, 2018
डलंग ने नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी ऑफ नाइजीरिया (एनओयूएन) के द्वारा नेशनल इंम्प्लॉबिलिटी स्किल डेवलपमेंट और इंटर्नशिप कार्यक्रम (एनईएसडीआईपी) के लॉन्च की सराहना की

नाइजीरिया: युवा और खेल मंत्री माननीय सोलोमन डलंग ने नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी ऑफ नाइजीरिया (एनओयूएन) द्वारा नेशनल इंम्प्लॉबिलिटी स्किल डेवलपमेंट (एनओयूएन) और इंटर्नशिप प्रोग्राम (एनईएसडीआईपी) के लॉन्च की सराहना की है, जिसमें उन्होंने उम्मीद जताई कि वह नौसिखिया और  बेराजगार स्नातक युवाओं को बेहतर काम करने के साथ, उनमें अपेक्षित और आधुनिक कौशल का विकास करेंगे।

सोलोमन डलंग ने लोगिस में एनईएसडीआईपी के लॉंच की प्रशंसा करते हुए कहा कि, इस पहल के माध्यम से बेरोजगार युवाओं को 21वीं शताब्दी के कार्यस्थल में कार्य करने के लिए सक्षम बनाया जाएगा।

साइमन ओडुएबो के मंत्री ने इस बात पर खेद जताते हुए कहा कि, बेरोजगारी की समस्या नाइजीरियाई युवाओं की मुख्य समस्या है, जिसका कारण कर्मचारियों द्वारा सीखी जाने वाली औपचारिक शिक्षा और नौकरियों में अपेक्षित कौशल में अंतर का होना है और इसके साथ में अर्थव्यवस्था में श्रम बाजार द्वारा नए कर्मचारियों के लिए पर्याप्त नौकरियों का सर्जन न कर पाना है।

डलंग ने कहा कि, " युवाओं के लिए कौशल विकास प्रशिक्षण, युवाओं की रोजगार-योग्यता के कौशल को विकसित और गहरा करना है। नाइजीरियन यूथ इंम्लोमेंट एक्शन प्लान का मुख्य बिंदु एक ऐसे ढांचे का मूल्यांकन करना है, जो युवाओं में फेडरल मिनिस्ट्री ऑफ यूथ्स के साथ एक कॉडिनेटिंग एजेंसी के रूप में मल्टी-स्टेकहोल्डर उपागम विकसित करे।

डलंग ने कहा कि," मैं इस सद्भावना के लिए नेशनल ओपन यूनिवर्सिटी ऑफ नाइजीरिया (एनओयूएन) के प्रबंधन की सराहना करता हूं। ”  नाइजीरिया के राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय (एनओयूएन) के उप कुलपति प्रो. अब्दल्लाउबा एडमू की ओर से डिप्टी उप कुलपति चांसलर प्रो जॉय ऐसी ने स्पष्ट किया कि एनईएसडीआईपी एक ऐसी पहल है, जो श्रम बाजार में नए और बेराेजगार स्नातक युवाओं को आवश्यक साॅफ्ट स्किल्स का प्रशिक्षण देती है।

नाऊन के उप कुलपति ने कहा कि, "इस कार्यशाला का मूल उद्देश्य स्नातक युवाओं को आवश्यक कौशल प्रदान करने के लिए फेडरल गवर्मेंट से साझेदारी करना है, जिससे उन्हें किसी भी कार्य में अच्छा प्रदर्शन करने में सहायता मिलेगी, क्योंकि बढ़िया खोज उत्कृष्ठता की खोज होती है।”

सेंटर फॉर ह्यूमन रिसोर्स डेवलपमेंट (सीएचआरडी) के निदेशक, प्रोफेसर ग्रेस जोनाथन ने स्पष्ट किया कि प्रशिक्षण कार्यक्रम की अवधि तीन सप्ताह की होगी जिसमें प्रशिक्षुता शामिल होगी। इंटर्नशिप अगले 90 दिनों के लिए होगी। 

"Powered by Transzaar - empowering human translators..."



SKILL NEWS